GENERAL KNOWLEDGE TEST
April 7, 2020
INDIA GK
April 11, 2020
कैरियर

अपने लिए सही कैरियर का चयन कैसे करें ?

सबसे महत्त्वपूर्ण है कॅरियर का चुनाव

किसी भी विद्यार्थी का सबसे अहम उद्देश्य अच्छे भविष्य का निर्माण करना है। उसके सपने, उसकी महत्त्वाकांक्षा -सब कुछ भविष्य निर्माण पर केन्द्रित होती है। इन सबके अलावा माता-पिता परिजनों की भी अपने बच्चों से काफी अपेक्षाएँ होती है – ऐसे में बच्चों पर कुछ कर दिखाने का भावनात्मक दवाब भी हावी हो जाता है। लेकिन यदि इस भावनात्मक दवाब को सकारात्मक रूप दिया जाए तो निश्चित रूप से एक बेहतरीन कॅरियर बनाया जा सकता है ।

भविष्य निर्माण की सबसे महत्त्वपूर्ण कड़ी – किस क्षेत्र में कॅरियर बनाया जाए – होती है । जब तक आप यह नहीं तय कर पाओगे कि आपको किस क्षेत्र में जाना है ? किस क्षेत्र में आप अपना कॅरियर और भविष्य बनाना चाहते हो – जब तक यह निश्चय नहीं कर पाओगे -तब तक आप अनिर्णयात्मक स्थिति में झूलते रहोगे । जब आपको यही पता नहीं होगा कि करना क्या है तो फिर आगे करोगे भी क्या ? इसलिए सबसे पहले यह सुनिश्चित कीजिये कि आप किस क्षेत्र में अपना कॅरियर बनाना चाहते हो और फिर पूर्ण मनोयोग और जी-जान से अपने सपनों को सच करने में जुट जाइए । विश्वास कीजिये -आप मनचाहे क्षेत्र में कॅरियर बना पाओगे ।

कॅरियर / कोर्स का चयन कैसे करें ?

यह युवाओं के लिए और खासकर 12th उत्तीर्ण किए हुए विद्यार्थियों के लिए सबसे जरूरी प्रश्न है । यदि इसका सही-सही और तर्क-पूर्ण जवाब उन्हें मिल जाये तो वे जीवन में बहुत कुछ अच्छा करके दिखा सकते हैं। इस दौरान उनमें उत्साह – जोश और कुछ कर गुजरने का हौंसला होता है । 12th उत्तीर्ण करने के बाद एक सकारात्मक ऊर्जा उनमें होती है , जिसको यदि सही दिशा और मार्गदर्शन मिल जाये तो सपने सच होना आसान हो जाता है । यदि सही दिशा नहीं मिल पाती है तो यह ऊर्जा नकारात्मक ऊर्जा में परिवर्तित हो जाती है, जिसका जीता -जागता उदाहरण हम अपने आसपास समाज और परिवारों में देख सकते हैं। उदाहरण के तौर पर कुछ बच्चे बहुत छोटी उम्र में अच्छा मुकाम हासिल कर लेते हैं जबकि उनकी शैक्षणिक पृष्ठभूमि (Educational Background) भी ज्यादा अच्छी नहीं होती है । दूसरी तरफ बहुत अच्छी शैक्षणिक पृष्ठभूमि (Educational Background) होने के बाद भी सही मार्गदर्शन के अभाव में बच्चे या तो अवसाद (Depression) का शिकार होकर गलत कदम उठा लेते हैं या फिर कॅरियर के प्रति उदासीन होकर गलत राह पकड़ लेते हैं। इसलिए कॅरियर चयन में अत्यंत सावधानी रखी जानी चाहिए।

कॅरियर चयन बच्चों की रुचि पर आधारित होना चाहिए, कभी भी थोपा नहीं जाना चाहिए। आज हमारे युवाओं के सामने यह समस्या विकराल रूप में खड़ी हुई है। हमारे भारतीय पारंपरिक परिवारों में अन्य पहलुओं की तरह कॅरियर भी बच्चों पर थोपा जाता है । थोपने का परिणाम हो सकता है कुछ प्रतिशत मामलों में मन -माफिक मिल जाता होगा लेकिन अधिकांश मामलों में निराशा ही हाथ लगती है। आप एक बार सोचकर देखिये एक परिवार में पिता बच्चे को डॉक्टर, माँ इंजीनियर , बहिन प्रशासनिक अधिकारी और भाई व्यवसायी बनाना चाहेगा तो उस बच्चे का क्या हश्र होगा ? इसलिए समझ लेना चाहिए कि कॅरियर चयन किसी के भविष्य का निर्माण होता है,फुटबॉल बनना नहीं । कॅरियर चयन करते समय निम्नलिखित बातों का अवश्य ध्यान रखना चाहिए –

1.कॅरियर या 12th के बाद कोर्स चयन करते समय सबसे ज्यादा महत्त्व विद्यार्थी को अपनी रुचि को देना चाहिए । वही कोर्स चुने जिसमें आपकी रुचि है । यदि आपकी रुचि उस कोर्स या फील्ड में नहीं है, तो आप मन -माफिक सफलता कभी नहीं प्राप्त कर पाओगे ।

2.कॅरियर चयन करते समय अपने आपसे सवाल कीजिये कि आप आखिर क्या करना चाहते हैं – किसी प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी करना या किसी कोर्स में प्रवेश लेकर आगे उस क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना। इस सवाल का जवाब आपको खुद से तलाश करना है । इसमें बहुत सारे लोगों की सलाह आपका भला नहीं कर सकती।

3.कॅरियर या कोर्स चुनने से पहले उपलब्ध सारे विकल्पों के बारें में ठीक ढंग से जान लिया जाना चाहिए ताकि आप भविष्य के प्रति बेहतरीन निर्णय ले सको ।

4.यदि आप किसी प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी करना चाहते हैं, तो आपको साथ में दूसरा विकल्प भी रखना चाहिए ताकि प्रतियोगिता परीक्षा में असफल होने की स्थिति में किसी नए क्षेत्र का चयन किया जा सके और आपको समय बर्बाद होने का मलाल ना हो ।

5.कॅरियर चयन या कोर्स का चयन करते समय यह सोचकर कि आप गरीब परिवार से हैं -खुद को कभी कमजोर नहीं करना चाहिए। आजकल एजूकेशन लोन, स्कोलरशिप्स के नाम पर बहुत सारे विकल्प उपलब्ध होते हैं, जिनके माध्यम से आप अपने सपनों को सच कर सकते हैं।

6.कॅरियर चयन करते समय इधर -उधर की या आधी-अधूरी जानकारी एवं सलाहों से बचना चाहिए। यदि आवश्यक हो तो किसी अच्छे कॅरियर काउन्सलर की सलाह ली जा सकती है। इंटरनेट भी भ्रमर जाल है, इसलिए प्रामाणिक स्रोतों से ही सहयोग लिया जाना चाहिए ।

1 Comment

  1. Saifali Khan says:

    12th class Arts all books

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *